श्रीजी इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा.लि. कम्पनी के वाहन राह चलते वाहनों को बेरहमी के साथ कुचल रहे

[adsforwp id="60"]

श्रीजी इंफ्रा

वाहन मालिकों का रहता है गैर-जिम्मेदाराना जबाव

रीवा-गुढ़ -:

इन दिनों गुढ़ तहसील अंतर्गत बदवार से सीतापुर पहुंचमार्ग निर्माणाधीन है जिसके निर्माण कार्य का ठेका श्रीजी इंफ्रास्ट्रक्चर प्रायवेट लिमिटेड कंपनी को मिला है। आपको बता दें कि श्रीजी इंफ्रास्ट्रक्चर प्रायवेट लिमिटेड कंपनी के सड़क निर्माण में लगे वाहन किसी को भी राह चलते कुचल सकते हैं क्योंकि सम्बंधित थाने की पुलिस इनके वाहन को एक घंटे से अधिक के लिए जप्त नहीं कर सकती, ऐसा कहना है सम्बंधित कम्पनी के वरिष्ठ प्रबंधन का ,,,,
ख़बर मध्यप्रदेश के रीवा जिले से है जहाँ पर इन दिनों श्रीजी इंफ्रास्ट्रक्चर प्रायवेट लिमिटेड कम्पनी द्वारा बदवार से सीतापुर बाया दुआरी तमरादेश नवीन सड़क मार्ग का निर्माण कार्य किया जा रहा है, जिसमे निर्माण कम्पनी द्वारा जमकर भ्रस्टाचार और मनमानी जारी है। यदि किसी के द्वारा किये जा रहे भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज़ भी उठाई जाती है तो निर्माण कार्य मे लगी राजनैतिक रसूख रखने वाली कम्पनी द्वारा उसकी आवाज़ दबा दी जाती है।। ताजा जानकारी के अनुसार दिनांक 26.11.2023 दिन रविवार को शाम के लगभग 04.00 बजे, ग्राम जल्दर थाना गुढ़ निवासी श्री विश्वम्भर प्रसाद मिश्रा अपने अन्य साथी प्रकाशचंद्र अग्निहोत्री (दुआरी ), एवं उर्बिजा उपाध्याय (मामा )निवासी ग्राम जरहा के साथ अपनी बोलेरो वाहन से किसी आमंत्रण मे सम्मिलित होने दुआरी से गुढ़ की ओर जा रहे थे तभी रास्ते मे बेला -दानी के पास निर्माण कम्पनी द्वारा निर्मित डॉयवर्शन मे विपरीत दिशा से आ रही श्रीजी कम्पनी की ही फ्यूरी मशीन जिसका चालक अत्यधिक तेज एवं लापरवाही पूर्वक चला रहा था उसके द्वारा जबरदस्त ठोकर मार दी गई, ईश्वर की महती कृपा से किसी प्रकार की जन-हानि तो नहीं हुई किन्तु बोलेरो वाहन के दाहिने तरफ का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया।
अब शुरू हुआ राजनैतिक रसूख का खेल -:
आपको बता दें घटना कारित करने के बाद श्रीजी कम्पनी के फ्यूरी वाहन क्रं. MP 09HH 7764 का चालक वाहन लेकर घटना स्थल से भाग निकला जिसे कुछ दूर पीछा करने के बाद पकड़ा गया जिसके बाद रसूखदारों के फोन सक्रिय हो गए और कुछ देर बाद सम्बंधित निर्माण कम्पनी के कुछे दबंग कर्मचारी बोलेरो बाहन से घटना स्थल पर पहुँच पीड़ित जनों को धमकी देते हुए कहने लगे की मेरा कुछ ना बिगाड़ पाओगे जाओ जहाँ जाना हो मैं अपना वाहन लेकर जा रहा हूं जिस पर घटना स्थल पर उपस्थित ग्रामीण जनों द्वारा घटना कारित करने वाले वाहन को नहीं ले जाने दिया गया। तत्पश्चात सम्बंधित कम्पनी के रसूखदारों द्वारा पुलिस की धमकी दी जाने लगी कि तुम जाओ मेरे वाहन के खिलाफ़ रिपोर्ट दर्ज करवाओ और मैं एक घंटे के अंदर अपना वाहन थाने से निकलवा कर इसी सड़क पर फिर से दौड़ाऊंगा और अभी तो साइड से लगा है इस बार सीधा -सीधा मरवा दूंग।तत्पश्चात घटना स्थल पर उपस्थित वरिष्ठ ग्रामीण जनों द्वारा उभय पक्ष को संतुष्ट कर आपसी समझौता करवा दिया गया।
यहां पर सबसे अहम एवं गौर करने वाली बात यह है कि निर्माणाधीन सड़क में सड़क निर्माण कार्य में लगे वाहन हवाई जहाज से भी अनियंत्रित स्पीड़ में रहते हैं और राह चलते वाहनों को कीड़ा-मकोड़ा समझकर ठोकर मार देते है तत्पश्चात वाहन मालिक पीड़ित को सहानुभूति दर्शाने के बजाय धमकी देते हैं कि जाओ थाने में रिपोर्ट कर दो ,,,, निर्माण एजेंसी या वाहन मालिकों का क्या यह उचित जबाब है ? क्या इनके लिए आमजनता की जिंदगी का कोई मोल नहीं है ???

बने हैं अनिगनत डायवर्सन नहीं होती सिंचाई,धूल का छाया रहता है कोहरा -:
आपको बता दें कि बदवार सीतापुर पहुंचमार्ग निर्माण में बदवार से तमरादेश तक अनगिनत डायवर्सन बने हैं जिनमें अथाह धूल भरी है, अथाह धूल के कारण धूल में फंसकर छोटे वाहन कई बार दुर्घटनाग्रस्त हो चुके। स्थानीय मीडिया द्वारा खबरों के माध्यम से जिम्मेदारों का ध्यानाकर्षण करवाया गया किन्तु अंधरे के आगे रोबय आपन दीदा खोबय बाली कहावत चरितार्थ हो रही है।

Leave a Comment

[adsforwp id="47"]
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
[adsforwp id="47"]