लोक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग बनना सराहनीय पहल -: डां.बी.एल. मिश्रा

[adsforwp id="60"]

लोक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग बनना सराहनीय पहल -: डां.बी.एल. मिश्रा

✍️ निखिल पाठक रीवा ✍️

*रीवा -:* माननीय उप मुख्यमंत्री जी एवं मंत्री लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री राजेन्द्र शुक्ल जी के प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के सर्वांगिण विकास हेतु दो विभागों लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग के संविलियन से प्रदेश के स्वास्थ्य योजनाओं के सुचारू रूप से संचालन हेतु सराहनीय पहल है। अब तक दोनों विभाग अलग अलग थे, दोनों विभागों के पृथक -पृथक मंत्री एवं प्रमुख सचिव होनें से स्वास्थ्य योजनाओं को आमजन तक पहुचनें में विलंब होता था व समय ज्यादा लगनें के साथ समस्याओं का भी सामना करना पड़ता था। दोनों विभागों का एक ही उद्देश्य है स्वास्थ्य योजनाओं का क्रियान्वयन जैसे स्वास्थ्य केन्द्रों में मरीजों की जॉच, उपचार, समाज में बीमारियों की रोकथाम, आमजन को विभिन्न बीमारियों के रोकथाम हेतु जागरूकता बढ़ाना, संक्रामक बिमारियों की टीकाकरण व अन्य माध्यम से देश को मुक्त करना। विगत दशकों में स्माल पाक्स, प्लेग, कालरा, पोलियो जैसी संक्रामक बीमारिया समाप्त हो चुकी हैं। जबकि कुछ वर्षों में टी.बी., एच.आई.व्ही-एड्स, मीजल्स, रूबेला, सिफलिस, गोनोरिया, वैक्शीन से बचाव वाली बीमारिया डिफथीरिया, कुकर खांसी, टिटनेस जैसे संक्रामक रोगों को समाप्त करनें का भारत शासन का लक्ष्य हेै। दूसरी ओर असंचारी बीमारियों ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, हृदय रोग व कैंसर को बढ़नें से रोकना, जागरूकता, जटिलता से बचाव व जांच तथा उपचार का प्रबंधन अति आवश्यक है। साथ ही डिग्री, डिप्लोमा, पैरामेडिकल, नर्सिंग शिक्षा, को उच्च गुणवत्ता युक्त बनानें में दोनों विभागों को एक विभाग में बदलनें से सुधार होगा। क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवायें डा. बी.एल. मिश्रा नें म.प्र. शासन के इस पहल की सराहना की है व प्रदेश के उप मुख्यमंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल जी के प्रति आभार व्यक्त किया है।

Leave a Comment

[adsforwp id="47"]
What does "money" mean to you?
  • Add your answer
[adsforwp id="47"]